उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल – मक्का व अरहर

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल - मक्का व अरहर

खरीफ फसल – अरहर उर्वरक प्रबंधन उर्वरक को 5 से 7 से.मी. जमीन से नीचे डाले। सीड ड्रिल या दुफन की सहायता से उर्वरक डालें। …

Read more

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल – मूंग व उड़द

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल - मूंग व उड़द

खरीफ फसल – मूंग   बीज उपचार :- बीजोप्चार 1 ग्राम कार्बाडजिम और 2 ग्राम थाईरम या 3 ग्राम थाईरम / कि.ग्रा. बीज की दर …

Read more

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल – सोयाबीन व मूंगफली

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल - सोयाबीन व मूंगफली

खरीफ फसल – मूंगफली   सिंचाई प्रबंधन फूल आने पर पहली सिंचाई करें। यदि खेत में नमी 50 प्रतिशत से कम हो या फूल आने …

Read more

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल – कपास व तिल

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल - कपास व तिल

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल – कपास उर्वरक प्रबंधन अच्छी सड़ी गोबर की खाद या काम्पोस्ट की 15-25 टन सिंचित फसल के लिए मिलाए। अच्छी सड़ी …

Read more

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल – ज्वार व रागी

उर्वरक प्रबंधन खरीफ फसल - ज्वार व रागी

  उर्वरक प्रबंधन उवरको कि निम्नखित मात्रा का उपयोग करे ज्वार की फसल को पोषक तत्वों की भारी मात्रा में आवश्यकता होती है। 12-15 गाड़ी …

Read more

उर्वरक प्रबंधन सिचित धान

उर्वरक प्रबंधन सिचित धान

उर्वरक प्रबंधन सिचित धान   खरीफ फसल -ंसिचित धान उर्वरक प्रबंधन सिंचित धान के लिए उर्वरक की उपयुक्त मात्रा इस प्रकार से है। नत्रजन 80-100 …

Read more

उर्वरक प्रबंधन असिंचित अप व लोलेन्ड धान

उर्वरक प्रबंधन असिंचित अप व लोलेन्ड धान

उर्वरक प्रबंधन असिंचित अप व लोलेन्ड धान   खरीफ फसल – असिंचित लोलेन्ड धान उर्वरक प्रबंधन असिंचित लोलेन्ड धान के लिए उर्वरक की उपयुक्त मात्रा …

Read more

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -कुसुम व सूरजमुखी

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -कुसुम व सूरजमुखी

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -कुसुम व सूरजमुखी रबी फसल – कुसुम उर्वरक प्रबंधन उर्वरकों के प्रयोग और सही देखभाल से करडी की अच्छी उपज प्राप्त …

Read more

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -अलसी

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -अलसी

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -अलसी   उर्वरक प्रबंधन सिंचित अलसी के लिए 60 कि.ग्रा. नत्रजन 30 कि.ग्रा. स्फुर एवं 20 कि.ग्रा. पोटाश का उपयोग करें। …

Read more

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -सरसों

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -सरसों

उर्वरक प्रबंधन रबी फसल -सरसों   अन्तर सस्य क्रियायें समय पर निदाई गुड़ाई से बीज और अनाज दोनों की उपज में वृध्दि होती है। सरसों …

Read more

error: Content is protected !!